हमारे मंच और पंच वही हैं, सरकार आज बात करे या अगले साल: राकेश टिकैत

नए कृषि कानूनों के विरोध में टीकरी बॉर्डर पर आयोजित किसान महापंचायत में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने आज फिर दोहराया कि कृषि कानून (Farm Laws) रद्द होने के बाद ही 'घर वापसी' होगी। टिकैत ने कहा कि हम पंचायती प्रणाली को मानने वाले लोग हैं। हम फैसलों के बीच में न पंच बदलते हैं और न ही मंच बदलते हैं। हमारा दफ्तर सिंघु बॉर्डर पर ही रहेगा और हमारे लोग भी वहीं रहेंगे। जो सरकार की लाइन थी बातचीत करने की उसी लाइन पर वह बातचीत कर लें। केंद्र चाहे तो आज बात कर ले या 10 दिनों में या अगले साल, हम तैयार हैं। हम दिल्ली से बैरिकेड्स हटाए बिना नहीं जाएंगे।