वैक्सीन की कमी से टीकाकरण केंद्रों से लौटाए जा रहे लोग

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर काफी विकराल होता दिख रहा है। बुधवार को एक दिन में कोरोना वायरस के मामलों ने सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए और सबसे अधिक 1.25 लाख का आंकड़ा पार कर लिया। महामारी की शुरुआत से ही अब तक ऐसा पहली बार है, जब एक दिन में 1 लाख 26 हजार से अधिक नए केस सामने आए हैं।वही कोरोना वैक्सीन को लेकर केंद्र और राज्यों की सरकार के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। महाराष्ट्र की ओर से वैक्सीन की कम सप्लाई किए जाने के आरोप का जवाब देते हुए केंद्र ने राज्य सरकार पर ही टीकों की बर्बादी का आरोप लगाया है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, 'महाराष्ट्र के पास 23 लाख डोज हैं, जिसका मतलब है कि उसे पास 5 दिन के लिए वैक्सीन का स्टॉक है। हर राज्य के पास ही 3 से 4 दिन का स्टॉक है। यह राज्य सरकार की जिम्मेदारी है कि वह अलग-अलग जिलों को सप्लाई करे। लेकिन महाराष्ट्र सरकार ने इसकी बजाय 5 लाख डोज बर्बाद कर दीं।