भारतीय वायुसेना और नेवी के जवानों ने मिलकर मापी तपोवन में ग्लेशियल झील की गहराई

एक संयुक्त अभियान के तहत भारतीय वायुसेना के एडवांस्ड लाइट हेलिकॉप्टर (एचएएल) की मदद से नौसेना के गोताखोरों ने उत्तराखंड के तपोवन में ऊंचाई वाले इलाके में बनी हिमनद (ग्लेशियल) झील की गहराई मापी। नौसेना की तरफ से रविवार को यह जानकारी दी गई। उत्तराखंड के चमोली स्थित रैंणी और तपोवन क्षेत्र में शवों की खोजबीन का काम शनिवार को 14वें दिन भी जारी रहा। एनडीआरएफ, डीआरएफ, सेना, बीआरओ के जवानों की ओर से राहत व बचाव का कार्य युद्धस्तर पर जारी है। बचाव टीम ने शनिवार देर शाम तक पांच और शव बरामद किए हैं। बता दें कि आपदा के बाद से क्षेत्र में 204 लोग लापता हो गए थे, जिन्हें ढूंढ़ने के प्रयास जारी हैं। अभी तक कुल 67 शवों को बरामद किया जा चुका है।