छत्तीसगढ़ में नक्सलियों की कैद से जवान को मुक्त कराने कैसे एक पत्रकार ने निभाई अहम भूमिका

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में पिछले दिनों सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ के बाद बंधक बनाए गए कोबरा कमांडो के जवान को नक्सलियों ने लगभग 100 घंटे बाद शुक्रवार को रिहा कर दिया। इस जवान की रिहाई में बीजापुर के ही एक स्थानीय पत्रकार ने अहम भूमिका निभाई। पत्रकार की भूमिका की सराहना खुद बस्तर के आईजी ने भी की। बता दें कि 2 अप्रैल को हुई इस मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए थे। खुद पत्रकार गणेश मिश्रा ने बताया है कि आखिर जवान को उन्होंने कैसे रिहा करवाया और इसके लिए उनको क्या करना पड़ा।