कॉमेडियन कुणाल कामरा ने सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ ट्वीट पर माफी मांगने से किया इनकार

कामरा ने नोटिस के जवाब में अपना हलफनामा दायर किया है जिसमें कहा गया है कि न्यायाधीश भी चुटकुलों से कोई सुरक्षा नहीं जानते हैं। यह न्यायपालिका में जनता का विश्वास संस्थान के कार्यों पर स्थापित है, न कि किसी की आलोचना या टिप्पणी पर। उन्होंने कहा, ''मुनव्वर फारुकी जैसे हास्य कलाकारों को चुटकुलों के लिए जेल में डाल दिया जाता है। हम उन भाषणों और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला देख रहे हैं, जो उन्होंने किए भी नहीं हैं। स्कूली छात्रों से देशद्रोह के लिए पूछताछ की जा रही है।''